पादांगुष्ठासन की विधि, लाभ और सावधानी | Padangusthasana (Part-2)

0
624

पादांगुष्ठासन की विधि, लाभ और सावधानी | Padangusthasana (Part-2)

पादांगुष्ठासन की विधि, लाभ और सावधानी | Padangusthasana (Part-2)
पादांगुष्ठासन की विधि, लाभ और सावधानी | Padangusthasana (Part-2)

What is Padangusthasana in hindi | पादांगुष्ठासन क्‍या है?

Literal Meaning: Foot means foot. Angustha means thumb.

पादांगुष्ठासन  करने की विधि | Padangusthasana Karne Ka Tarika | How To Do Big Toe Pose In Hindi

ताड़ासन में खड़े हो जाएं। पैरों के मध्य लगभग एक फ़ीट का अंतर रखें। श्वास छोड़ें एवं आगे की तरफ झुकते हुए पैर के अंगूठे को अंदर की तरफ से ऐसे पकड़ें कि दोनों हथेलियाँ आमने-सामने हो जाएँ। सिर को सामने की तरफ़ रखें। अव पैर की अंगुलियों में तनाव देते हुए घुटनों के बीच सिर क रखें। सामान्य श्वास-प्रश्वास करें और लगभग 5 से 10 सेकंड इसी स्थिति में रहें। अब श्वास छोड़े। सिर ऊपर की ओर करें। पैर की अंगुलियों को छोड़कर ताड़ासन की स्थिति में आ जाएँ।

ध्यान :

विशुद्धि चक्र पर।

पादांगुष्ठासन  से प्राप्त होने वाले लाभ | Benifits Of Big Toe Pose

  • जिनके पैर कांपते हों, वे इस आसन को अवश्य करें। जो साधक इस आसन को नियमित करता है उसके पैरों में सुन्न होना और कंपन आदि नहीं होता। वायु निष्कासन करता है।
  • नितम्ब, कमर, मेरुदण्ड पेट और सीना ये सभी आकर्षक बन जाते हैं।
  • पाचन-क्रिया ठीक करता है। मोटापा कम करता है।

पादांगुष्ठासन की सावधानियाँ | Precautions While Doing Big Toe Pose In Hindi

  • एड़ी को सीवनी नाड़ी पर ही लगाकर आसन करें, ताकि मूलाधार चक्र व्यवस्थित हो सके।
  • हालाँकि यह मुद्रा आसान लगती है लेकिन इसे गर्भवती महिलाओं को करने की सलाह नहीं दी जाती है
  • यदि हाल ही में कोई सर्जरी या ऑपरेशन हुआ हो तो इस आसन को न करें|
  • उच्च रक्तचाप, चक्कर आने और साइटिका की समस्या वाले इस आसन को न करें।

You Can Also Visit On My YouTube Channel: Fitness With Nikita

Also, Read 

Watch Best Hollywood MoviesBollywood Movies, and Web Series in Full HD FREE.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here